Breaking News

भाकिसं का आंदोलन उग्रता की ओर उतारू होने के संकेत मिलते ही प्रशासन झुका, किसानों की हुई जीत

भाकिसं का आंदोलन उग्रता की ओर उतारू होने के संकेत मिलते ही प्रशासन झुका, किसानों की हुई जीत

लोकमतचक्र.कॉम।

टिमरनी : अपनी विभिन्न कृषक हितैषी मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे भारतीय किसान संघ के आंदोलन को प्रशासन द्वारा हल्के में लिया जा रहा था। 12 अगस्त 2021 को पिछले 6 दिनों से चल रहे भारतीय किसान संघ के आंदोलन के उग्रता की ओर उतारू होने के संकेत मिलते ही प्रशासन की नींद खुली ओर मौके पर एसडीएम के साथ कृषि विभाग का अमला पहुंचा। 


ज्ञात हो कि भारतीय किसान संघ द्वारा ट्रैक्टर ट्राली से रेली निकालकर एसडीएम कार्यालय का घेराव था इसके बावजूद प्रशासनिक अधिकारी किसानों को हल्के रूप में ले रहे थे परंतु संगठन के उग्र रूप के संकेत मिलते ही प्रशासन की ओर से कृषि विभाग से गिरीश मालवीय एवं नायब तहसीलदार पहुंचे परंतु किसानों का जवाब देने में असमर्थ रहे तत्पश्चात टिमरनी तहसीलदार रितु भार्गव पहुंची जिनसे संगठन के पदाधिकारियों द्वारा चर्चा की गई की यदि किसानों को संतुष्टि पूर्ण जवाब नहीं दिया गया तो हमारा पूर्व निर्धारित आंदोलन जारी रहेगा। जिस पर टिमरनी तहसीलदार रितु भार्गव द्वारा तुरंत कृषि विभाग के उपसंचालक चंद्रावत सहायक संचालक कपिल बेड़ा सहकारी विभाग से सतीश सिटोके तथा टिमरनी अनुविभागीय अधिकारी रीता डेहरिया से चर्चा कर उन्हें अवगत कराया इसके बाद धरना स्थल पर पहुंची.अनुविभागीय अधिकारी की मध्यस्थता में कृषि विभाग से संपूर्ण विषयों पर चर्चा हुई । 

जिसमें कृषि विभाग द्वारा संपूर्ण जवाबदारी लेते हुए बताया कि आज से ही टिमरनी ब्लाक अंतर्गत दोनों तहसीलों में10 केंद्र पर मूंग खरीदी का रेगुलर कार्य जारी रखेंगे तथा प्रत्येक केंद्रों पर प्रतिदिन 50 मैसेज छोड़े जाएंगे जिसमें से 15 मैसेज बड़े किसानों के तथा  35 मैसेज छोटे किसानों के छोड़े जाएंगे प्रतिदिन छोड़े गए मैसेज की तुलाई सुबह 8:00 बजे से प्रारंभ होकर शाम 6:00 बजे तक पूर्ण कर ली जाएगी, इसके लिए खरीदी केंद्रों पर कांटो की संख्या भी बढ़ाई जाएगी। प्रत्येक केंद्रों पर ग्रेडर की व्यवस्था की जाएगी एवं किसी भी ट्राली को बगैर नापतोल ग्रेडिंग नियम के विरुद्ध रिजेक्ट नहीं किया जाएगा, शासन से 6 केंद्र और बढ़ाने की मांग की है जो शीघ्र पूर्ण होने की संभावना है एवं अधिक से अधिक मात्रा में वेयरहाउस को खाली कराया जाएगा एवं तोले गए मूंग का भुगतान भी शीघ्र कराया जाएगा।

इन सभी विषयों को पूर्ण् करने की कृषि विभाग के आश्वासन उपरांत अनुविभागीय अधिकारी द्वारा भी सभी विषयों को शीघ्र पूर्ण कराने का आश्वासन दिया गया तत्पश्चात संगठन द्वारा अनुविभागीय अधिकारी से चर्चा की गई की इन सभी विषयों की आप की जवाबदारी है यदि इन बिंदुओं पर कृषि विभाग द्वारा किसी प्रकार की लापरवाही या पूर्ण करने में देरी की जाती है तो संगठन तुरंत आपसे बात करेगा आपको तुरंत समाधान देना पड़ेगा ,संपूर्ण सहमति के बाद संगठन द्वारा पिछले  6 दिन से चल रहे आंदोलन को स्थगित किया गया। आज के आंदोलन में मुख्य रूप से भारतीय किसान संघ के प्रदेश  प्रांतीय मंत्री नरेंद्र  दोगने, जिलाअध्यक्ष आनंदराम किरार, विनोद पाटिल, श्याम पाटिल, विजय मलगाया, दीपचंद नवाद, लोकेश गौर,  रेवा शंकर दोगने, दीपक पटेल, रामकृष्ण राजपूत सहित  जिले से संगठन के सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद रहे।👉🏻सन्दीप अग्रवाल की रिपोर्ट✍🏻

कोई टिप्पणी नहीं