Breaking News

जनवरी 2022 से कपड़े- जूते- चप्पल और टेक्सटाइल हो जाएंगे और महंगे...

जनवरी 2022 से कपड़े- जूते- चप्पल और टेक्सटाइल हो जाएंगे और महंगे...

लोकमतचक्र.कॉम।

नईदिल्ली : नए साल 2022 आपको कपड़े, जूते-चप्पल और टेक्सटाइल का सामान खरीदने के लिए पहले से ज्यादा पैसे खर्च करने होंगे, क्योंकि केंद्र सरकार ने इन सभी सामान पर GST को बढ़ा दिया है। यानी अब कपड़े और जूते-चप्पल खरीदने के लिए आपको अपनी पॉकेट ढीली करनी होगी. बता दें कि सरकार पहले इन सामान पर 5 फीसदी की दर से जीएसटी लगाती थी, लेकिन अब इसको बढ़ाकर 12 फीसदी कर दिया गया है। जीएसटी की नई दरें जनवरी 2022 से लागू हो जाएंगी।


आप सभी को हम यह भी बता दें कि सरकार पहले इन सामान पर 5 फीसदी की दर से जीएसटी लगाती थी, लेकिन अब इसे बढ़ाकर 12 फीसदी किया जा चुका है। कहा जा रहा है जीएसटी की नई दरें जनवरी 2022 से लागू हो जाएंगी। आपको बता दें कि सेंट्रल बोर्ड ऑफ इन डायरेक्ट टैक्स (CBIT) ने अधिसूचना जारी कर इस बारे में जानकारी दी है। वैसे बीते काफी समय से यह संभावना जताई जा रही थी कि सरकार रेडीमेड और टेक्सटाइल पर जीएसटी बढ़ा सकती है और अब अधिसूचना भी जारी कर दी गई है। ऐसे में अब कपड़े और जूते-चप्पल महंगे होने जा रहे हैं। खबरों के अनुसार अब किसी भी कीमत के फैब्रिक पर 12 फीसदी की दर से ही जीएसटी लगेगा।

जी दरअसल पहले एक हजार रुपये तक की कीमत के कपड़े पर 5 फीसदी की दर से जीएसटी लगता था, लेकिन अब सभी पर 12 फीसदी की दर से ही जीएसटी लगाया जाएगा। इसी के साथ धागों पर भी 12 फीसदी की दर से ही जीएसटी लगेगा, जिससे कपड़े महंगे होने वाले हैं। इसी के साथ बुने धागे, सिंथेटिक धागे, थान, कंबल, टेंट, टेबल क्लॉथ, रग्स, तौलिया, नैपकिन, रूमाल, कालीन, गलीचा, लोई सभी पर 12 फीसदी की दर ही लागू होगी। वहीं, फुटवेयर पर जीएसटी के रेट्स को बढ़ाया जा चुका है।

कोई टिप्पणी नहीं