Breaking News

कार्य में लापरवाही बरतने वाले 2 पटवारी को किया निलंबित, तो पांच के काटे वेतन

कार्य में लापरवाही बरतने वाले 2 पटवारी को किया निलंबित, तो पांच के काटे वेतन


लोकमतचक्र डॉट कॉम। 

इंदौर। इंदौर कलेक्टर एक बार फिर एक्शन मोड में हैं। लगातार अपनी अलग कार्यशैली के लिए जाने जाने वाले कलेक्टर आशीष सिंह ने सात पटवारी पर कार्रवाई की है। इंदौर कलेक्ट्रेट में पटवारियों की लापरवाही एक बार फिर उजागर हुई है। कलेक्टर आशीष सिंह ने सख्त कदम उठाते हुए सात पटवारियों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई की है। इनमें से दो पटवारियों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है, जबकि पांच अन्य के 15 दिन के वेतन काटने के आदेश दिए गए हैं।

मामले में पटवारी मीनल पाल (सांवेर) और महेश तिवारी (खुडैल) निलंबित किया गया है। वहीं शैलेंद्रजीत सिंह (भिचौली हप्सी), गौरव यादव (राऊ), दमोदर शर्मा (राऊ), प्रमोद बरेलिया (महू), और दीपशिखा कैथवास (कनाडिया) के 15 दिन के वेतन काटे गए हैं। इन पटवारियों के काम में भी लापरवाही पाई गई और देखा गया कि इनके यहां भी आवेदन दस-दस दिन से लंबित हैं। इसके साथ ही इनके द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

पहले भी हुई है कार्रवाई

कलेक्टर ने पूर्व में भी राजस्व काम में लापरवाही और गंभीर शिकायतें मिलने पर पटवारियों और आरआई पर कार्रवाई कर उन्हें निलंबित किया था। तहसीलदारों के काम की जांच में भारी लापरवाही पाए जाने के बाद तीन तहसीलदारों के खिलाफ विभागीय जांच का प्रस्ताव भी भेजा जा चुका है। इसके अलावा, एक नामांतरण में भ्रष्टाचार का मामला सामने आने पर उसकी भी विभागीय जांच शुरू की गई है।

कलेक्टर आशीष सिंह की इस सख्त कार्रवाई से यह स्पष्ट हो गया है कि प्रशासनिक कामकाज में लापरवाही किसी भी स्तर पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं