Breaking News

पटवारी को नोटिस राज्यपाल के अभिभाषण का बहिष्कार करने पर

MLA जीतू पटवारी को नोटिस राज्यपाल के अभिभाषण का बहिष्कार करने पर, सदन में नारेबाजी, वाक आउट

भोपाल : राज्यपाल के अभिभाषण का बहिष्कार करने और सोशल मीडिया पर ट्वीट के जरिये इसको लेकर टिप्पणी करने के मामले में विधानसभा ने विधायक जीतू पटवारी को नोटिस जारी किया है। इस मामले में प्रश्नकाल के बाद विधायक गोविन्द सिंह ने पाइंट आफ आर्डर के तहत मांग रखी कि इसे वापस लिया जाए और खेद प्रकट किया जाए। इस पर संसदीय कार्य मंत्री ने खेद प्रकट करने से इनकार करते हुए कहा कि नियमों के तहत नोटिस दिया गया है। बाद में विधानसभा अध्यक्ष गिरीश गौतम ने उन नियमों को सदन में पढ़कर सुनाया जिसके आधार पर विधायक पटवारी को नोटिस दिया गया है। इससे नाराज कांग्रेस सदस्यों ने नारेबाजी करते हुए सदन से वाक आउट कर दिया। 

विधानसभा में बुधवार को प्रश्नकाल समाप्त होने पर विधायक गोविन्द सिंह ने कहा कि जो नोटिस दिया गया है वह नियम विरुद्ध है। इस तरह को नोटिस का संविधान में उल्लेख नहीं है। यह मौलिक अधिकारों का हनन करने वाला नोटिस है। सत्ता पक्ष के आरोप में यह नोटिस दिया गया है, इसलिए खेद प्रकट किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि किस नियम के आधार पर यह नोटिस दिया गया है, यह बताएं। इसके बाद संसदीय कार्य मंत्री मिश्रा द्वारा खेद प्रकट करने से इनकार करने के बाद विधानसभा अध्यक्ष गौतम ने कहा कि आचरण समिति के समक्ष शिकायत के आधार पर पटवारी को नोटिस दिया गया है। साथ ही यह भी कहा गया कि आचरण समिति को जवाब दें। इस पर विधायक सिंह ने लोकसभा के सांसदों का उल्लेख किया। इस पर अध्यक्ष ने राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान सदस्यों के आचरण नियम भी सदन में पढ़कर सुनाए। इससे नाराज कांग्रेसियों ने नारेबाजी करते हुए सदन से वाक आउट कर दिया। 

कोई टिप्पणी नहीं