Breaking News

लोकायुक्त छापे में खुली डॉक्टर की अवैध कमाई, कटनी में DM 60 हजार की घूस लेते गिरफ्तार

लोकायुक्त छापे में खुली डॉक्टर की अवैध कमाई, कटनी में DM 60 हजार की घूस लेते गिरफ्तार

लोकमतचक्र.कॉम।

भोपाल : प्रदेश के भष्ट अफसरों पर लोकायुक्त पुलिस की कार्यवाही जारी है। कटनी जिले में सोमवार को नागरिक आपूर्ति निगम के जिला प्रबंधक को ₹ 60000 रिश्वत  लेते हुए गिरफ्तार करने के बाद मंगलवार को गुना में एक डॉक्टर के आवास पर छापा मारकर अवैध कमाई का खुलासा किया गया है।

कटनी जिले में नागरिक आपूर्ति निगम के जिला प्रबंधक संजय सिंह को लोकायुक पुलिस ने सोमवार को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार किया है। संजय सिंह ने एक राइस मिलर्स से बीस लाख रुपए का बिल पास करने के एवज में एक लाख रुपए रिश्वत की मांग की थी। शिकायत के बाद जबलपुर लोकायुक्त टीम ने पहली किस्त साठ हजार रुपए लेते हुए प्रबंधक संजय सिंह और लेखापाल धीरज मिश्रा को गिरफ्तार किया। राइस मिल के मालिक ईश्वर रोहरा ने बताया कि उनसे नागरिक आपूर्ति निगम प्रबंधक संजय सिंह और उनके लेखापाल धीरज मिश्रा द्वारा धान मिलिंग करने एवं परिवहन के 20 लाख के बिल पास कराने के एवज में एक लाख रुपए मांगे जा रहे थे जिसकी उन्होंने जबलपुर लोकायुक्त में शिकायत की। शिकायत के बाद सोमवार को लोकायुक्त की टीम बरगवां स्थित नागरिक आपूर्ति निगम पहुंची। यहां नागरिक आपूर्ति निगम के प्रबंधक व लेखापाल को 60 हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया गया है।

गुना में आंखों के डॉक्टर की अवैध कमाई

उधर गुना जिले के आरोन सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पदस्थ सहायक नेत्र चिकित्सक केपी रघुवंशी के तीन ठिकानों पर लोकायुक्त पुलिस ने आज सुबह छापा मारा। छापे में करोड़ों की प्रॉपर्टी उनके पास होने का खुलासा हुआ है। लोकायुक्त पुलिस ने आय से अधिक संपत्ति होने की शिकायत के बाद यह कार्रवाई की है। 

शिकायत की पुष्टि होने के बाद लोकायुक्त ग्वालियर एसपी रामेश्वर यादव ने आज टीम बनाकर यहां पर छापा डालने के निर्देश दिए। टीम ने एक साथ गुना के साथ ही डॉ. रघुवंशी के आरोन और घटावदा के मकान पर छापा मारा। छापे में इन तीनों स्थानों पर मकान होने के साथ ही भोपाल की पॉश कॉलोनी में भी एक मकान के दस्तावेज मिले हैं। भोपाल के मकान में किरायेदार रहते हैं। वहीं करीब एक दर्जन जमीनों के दस्तावेज भी डॉक्टर के घर से छापे में लोकायुक्त पुलिस को मिले हैं। वहीं उनके पास से दो कार और दो मोटर साइकिल, एक ट्रैक्टर और एक जेसीबी मशीन भी मिली है। नकदी और जेवर भी उनके यहां से मिले हैं। खबर लिखे जाने तक छापा जारी था। छापे के बाद जमीनों के दस्तावेजों की पड़ताल की जाएगी कि यह दस्तावेज उनके और उनके परिजनों के नाम से हैं या किसी अन्य के नाम से हैं।

कोई टिप्पणी नहीं